“जिन्दगी खुशियों का वो गुलदस्ता है, जो बुजुर्गों की दुआओं से और भी महक उठती है”

 “जिन्दगी खुशियों का वो गुलदस्ता है  जो बुजुर्गों की दुआओं से और भी महक उठती है” #DadriKaDeepak  पानी ना समझो अमृत की यह धार है #GangaJalSankalpYatra @priyankagandhi #DadriKaDeepak #Chotiwalafordadri pic.twitter.com/4OqdNLi0uQ — Mohit bhati advocate Gurjar 🇮🇳 (@mohit9310204200) December 22, 2021  

 “बहूत ज़रूरी है ज़िंदगी में थोड़ा खालीपन क्योंकि यही वो समय हैं जहाँ हमारी मुलाक़ात हम से होती है।”

“बहूत ज़रूरी है ज़िंदगी में थोड़ा खालीपन क्योंकि यही वो समय हैं जहाँ हमारी मुलाक़ात हम से होती है।” #DadriKaDeepak